Class 12th, hindi पाठ- 6 एक लेख और एक पत्र SUBJECTIVE- प्रश्न उत्तर, inter hindi subjective- question answer

Class 12th, hindi पाठ- 6 एक लेख और एक पत्र सब्जेक्ट प्रश्न उत्तर, inter hindi subjective- question answer

आज के इस पोस्ट में आप जानने वाले हैं कक्षा 12 हिंदी पाठ एक लेख और एक पत्र का सभी सब्जेक्टिव महत्वपूर्ण प्रश्न।

बता दे अगर आप अच्छी तरह से तैयारी कर लेते हैं। तो परीक्षा में अच्छे अंक आने की गारंटी हम देते हैं ।

क्योंकि इससे अलग प्रश्न आपसे पूछा ही नहीं जाएगा,  इसी question  पूछा जाएगा .

सारांश सहित परा पाठ खत्म अलग से कुछ भी पढ़ना नहीं है इससे ही प्रश्न रहेगा  । 

 

Class 12th, hindi पाठ- 6 एक लेख और एक पत्र सब्जेक्ट प्रश्न उत्तर, inter hindi subjective- question answer

 

06. एक लेख और एक पत्र | भगत सिंह |

पाठ के सारांश

भगत सिंह महान क्रांतिकारी और स्वतंत्रता सेनानी और विचारक थे। भगत सिंह विद्यार्थी और राजनीति के माध्यम से बताते हैं कि विद्यार्थी को पढ़ने के साथ ही राजनीति में भी दिलचस्पी लेनी चाहिए यदि कोई इसे मना कर रहा है तो समझना चाहिए कि यह राजनीति के पीछे घोर षड्यंत्र है। क्योंकि विद्यार्थी युवा होते हैं उन्हीं के हाथ में देश की बागडोर हैं भगत सिंह व्यवहारिक राजनीति का उदाहरण देते हुए नौजवानों को यह समझाते हैं कि महात्मा गांधी जवाहरलाल नेहरू और सुभाषचंद्र बोस का स्वागत करना और भाषण सुनना हैं व्यवहारिक राजनीति नहीं तो और क्या है इसी बहाने वे हिंदुस्तानी राजनीति पर तीक्ष्ण नजर भी डालते हैं। भगत सिंह मानते हैं कि हिंदुस्तान को इस समय ऐसे देश सेवकों की जरूरत है। जो तन-मन-धन देश पर अर्पित कर दे और पागलों की तरह सारी उम्र देश की आजादी या उसके विकास में न्योछावर कर दे। क्योंकि विद्यार्थी देश दुनिया के हर समस्याओं से परिचित होते हैं उनके पास अपना विवेक होता है। वह इन समस्याओं के समाधान में योगदान दे सकते हैं अतः विद्यार्थी को पॉलिटिक्स में भाग लेने चाहिए

सब्जेक्टिव –

1. विद्यार्थियों को राजनीति में भाग क्यों लेना चाहिए?

उत्तर- विद्यार्थियों को राजनीति में भाग इसलिए लेना चाहिए क्योंकि उन्हें ही कल देश की बागडोर अपने हाथ में लेनी है अगर वे आज से ही राजनीति में भाग नहीं लेंगे तो आने वाले समय में देश की भली भांति नहीं संभाल पाएंगे जिससे देश का विकास न हो सकेगा।

2. भगत सिंह की विद्यार्थियों से क्या अपेक्षाएं हैं?

उत्तर- भगत सिंह की विद्यार्थियों से बहुत सी अपेक्षाएं हैं वे चाहते हैं कि विद्यार्थी राजनीति तथा देश की परिस्थितियों का ज्ञान प्राप्त करें और उनके सुधार के उपाय सोचने की योग्यता पैदा करें। वह देश की सेवा में तन मन धन से जुट जाएं और अपने प्राण न्योछावर करने में भी पीछे न हटे ।

3. भगत सिंह ने कैसी मृत्यु को सुंदर कहा हैं? वे आत्महत्या को कायरता कहते हैं इस संबंध में उनके विचारों को स्पष्ट करें।

उत्तर- क्रांतिकारी सरदार भगत सिंह देश सेवा के बदले दी गई फांसी मृत्युदंड को सुंदर मृत्यु कहां है भगत सिंह इस संदर्भ में कहते हैं कि जब देश के भाग्य का निर्णय हो रहा हो तो व्यक्तियों को भाग्य को पूर्णतया भुला देनी चाहिए। इसी दृढ़ इच्छा के साथ हमारी मुक्ति का प्रस्ताव सम्मिलित रूप में और विश्वव्यापी हो और उसके साथ ही जब यह आंदोलन अपने चरम सीमा पर पहुंचे तो हमें फांसी दे दी जाए। यह मृत्यु भगत सिंह के लिए सुंदर होगी जिसमें हमारे देश का कल्याण होगा शोषक यहां से चले जाएंगे और हम अपना कार्य स्वयं करेंगे किसी के साथ व्यापक समाजवाद की घटना भी करते हैं जिसमें हमारी मृत्यु बेकार ना जाए अर्थात संघर्ष में मरना एक आदर्श मृत्यु है भगत सिंह आत्महत्या को कायरता कहते हैं क्योंकि कोई भी व्यक्ति जो आत्महत्या करेगा वह थोड़ा दुख कष्ट सहने के चलते करेगा वह अपना समस्त मूल्य एक ही क्षण में खो देगा। इस संदर्भ में उनका विचार है कि मेरे जैसे विश्वास और विचारों वाला व्यक्ति व्यर्थ में मरना कदापि सहन नहीं कर सकता हम तो अपने जीवन का अधिक से अधिक मूल्य प्राप्त करना चाहते हैं हम मानवता की अधिक से अधिक सेवा करना चाहते हैं संघर्ष में मरजा एक आदर्श मृत्यु हाय प्रयत्नशील होना एवं श्रेष्ठ और उत्कृष्ट आदर्श के लिए जीवन दे देना कदापि आत्महत्या नहीं कही जा सकती भगत सिंह आत्महत्या को इसलिए कहते हैं कि केवल कुछ दिनों से बचने के लिए अपने जीवन को समाप्त कर देते हैं इस संदर्भ में वह एक विचार भी देते हैं कि विपत्तियां व्यक्ति को पूर्ण बनाने वाली होती है।

4. सप्रसंग व्याख्या करें-

1. मैं आपको बताना चाहता हूं कि विपत्तियां व्यक्ति को पूर्ण बनाने वाली होती है?

उत्तर- भगत सिंह का मानना हैं कि विपत्तियां मनुष्य को पूर्ण बनाती है अर्थात मनुष्य सुख की स्थिति में तो बड़े ही आराम से रहता है लेकिन जब उस पर कोई दुख आता है तो वह उसे दूर करने के प्रयास करता है जिससे उसका ज्ञान तथा कार्य क्षमता बढ़ती है और वह पूर्णतः पाता हैं।

2. हम तो केवल अपने समय की आवश्यकता की उपम है?

उत्तर- भगत सिंह के अनुसार यदि मनुष्य यह सोचने लगे कि अगर मैं कोई कार्य नहीं करूंगा तो वह कार्य नहीं होगा तो यह पूर्णतः गलत है। वास्तव में मनुष्य विचार को जन्म देने वाला नहीं होता अपितु परिस्थितियां विशेष विचारों वाले व्यक्तियों को पैदा करती है अर्थात हम तो केवल अपने समय की आवश्यकता की उपज है।

3. मनुष्य को अपने विश्वासों पर दृढ़तापूर्वक अडिग रहने का प्रयत्न करना चाहिए?

उत्तर- भगत सिंह कहते हैं कि हमें एक बार किसी लक्ष्य या उद्देश्य का निर्धारण करने के बाद उस पर अडिग रहना चाहिए। हमें विश्वास रखना चाहिए कि हम अपने लक्ष्य को अवश्य प्राप्त कर लेंगे।

 

4. भगत सिंह ने अपनी फांसी के लिए किस समय की इच्छा व्यक्त की है वे ऐसा समय क्यों चुनते हैं ?

उत्तर- भगत सिंह ने अपनी फांसी के लिए इच्छा व्यक्त करते हुए कहा है कि जब यह आंदोलन अपनी चरम सीमा पर पहुंचे तो हमें फांसी दे दी जाए। वे ऐसा समय इसलिए चुनते हैं क्योंकि वह नहीं चाहते कि यदि कोई सम्मानपूर्ण या उचित समझौता होना हो तो उन जैसे व्यक्तियों का मामला उसमें कोई रुकावट उत्पन्न करें।

> ऑब्जेक्टिव-

1. एक लेख और एक पत्र शीर्षक पाठ के लेखक कौन है ?

उत्तर- भगत सिंह

2. भगत सिंह का जन्म कब हुआ था ?

उत्तर- 28 सितंबर 1907

3. भगत सिंह को फांसी की सजा कब मिली थी ? उत्तर- 23 मार्च 1931

4. भगत सिंह का जन्म कहां हुआ था ?

उत्तर- बंगा चक्क नं 105 गुरेरा ब्रांच लायलपुर पाकिस्तान

5. भगत सिंह का पैतृक गांव था ?

उत्तर- खटकड़कलां पंजाब

6. भगत सिंह के माता पिता का नाम क्या है?

उत्तर- विद्यावती एवं सरदार किशन सिंह

7. भगत सिंह के पिता कितने बार जेल गए ? उत्तर- अनेक बार

8. भगत सिंह की पहली गिरफ्तारी कब हुई ?

उत्तर- अक्टूबर 1926

9. भगत सिंह की कृतियां हैं?

उत्तर- पंजाब की भाषा, तथा लिपि की समस्या, विश्व प्रेम युवक, मैं नास्तिक हूं, अछूत समस्या, विद्यार्थी और राजनीति, सत्याग्रह और हड़ताले, बम का दर्शन, भारतीय क्रांतिकारी का आदर्श,

10. भगत सिंह की लिखी पुस्तकें जो अप्राप्य हैं ?

उत्तर- समाजवाद का आदर्श, आत्मकथा, मौत के दरवाजे पर, भारत में क्रांतिकारी आंदोलन का इतिहास,

Hindi 12th class bseb 2024: https://www.youtube.com/playlist?list=PLGs31acL-JK9dXyNvZ0SYNJDj-8yOqo7W

Class 12th, hindi पाठ- 6 एक लेख और एक पत्र सब्जेक्ट प्रश्न उत्तर, inter hindi subjective- question answer

 

113
Created on By Madhav Ncert Classes

12 Hindi 100 marks Test important objective Question

1 / 17

तुमुल कोलाहल कलह में’ शीर्षक कविता के रचयिता कौन है ?

 

2 / 17

जयशंकर प्रसाद की सफलतम नाट्यकृति है

 

3 / 17

जब किसी वस्तु को आवेशित किया जाता है, तो उसका द्रव्यमान –

 

4 / 17

Indian through a travellers eye has been written by

5 / 17

‘मैं उषा की ज्योति’ में कौन-सा अलंकार है ?

 

6 / 17

The Artist..has been written by

7 / 17

मनुष्य का शरीर क्यों थक जाता है ?

 

8 / 17

Ideas that have helped mankind

9 / 17

दिनकरजी किसलिए प्रसिद्ध है ?

 

10 / 17

संर्पूण क्रांति का नारा किसने दिया था ?

 

11 / 17

ध्रुवस्वामिनी’ कैसी कृति है ?

 

12 / 17

उर्वशी’ किसकी रचना है ?

 

13 / 17

किसे ‘लोकनायकू’ के नाम से जाना जाता है ?

 

14 / 17

जयप्रकाश नारायण ने ‘संपूर्ण क्रांति’ वाला ऐतिहासिक भाषण कहाँ और कब दिया था ?

 

15 / 17

How Free Is The Press has been Written By

16 / 17

कामायनी’ के रचयिता कौन है ?

 

17 / 17

The Earth🌎 has beenwritten by

Your result is being prepared by Madhav Sir.

Your score is

The average score is 53%

0%

 

important links

12th Hindi vvi Question Click Here
Model paper Click Here
Important question Click  Here
12th All subject Click Here

 

 

Important Link

Bseb official Link- Click Here
Home page Click Here
Latest news Click Here
Syllabuss Click Here
What is IAS?  Click Here
Online process Click Here
 

10th 12th New Batch

 

Click Here

 

Others Important Link– 
9th All Question Click Here
10th All Question Click Here
11th All Question Click Here
IAS Preparation Click Here
12th All Question Click Here

 

 

113
Created on By Madhav Ncert Classes

12 Hindi 100 marks Test important objective Question

1 / 17

ध्रुवस्वामिनी’ कैसी कृति है ?

 

2 / 17

कामायनी’ के रचयिता कौन है ?

 

3 / 17

तुमुल कोलाहल कलह में’ शीर्षक कविता के रचयिता कौन है ?

 

4 / 17

जयप्रकाश नारायण ने ‘संपूर्ण क्रांति’ वाला ऐतिहासिक भाषण कहाँ और कब दिया था ?

 

5 / 17

The Artist..has been written by

6 / 17

जब किसी वस्तु को आवेशित किया जाता है, तो उसका द्रव्यमान –

 

7 / 17

दिनकरजी किसलिए प्रसिद्ध है ?

 

8 / 17

किसे ‘लोकनायकू’ के नाम से जाना जाता है ?

 

9 / 17

‘मैं उषा की ज्योति’ में कौन-सा अलंकार है ?

 

10 / 17

How Free Is The Press has been Written By

11 / 17

मनुष्य का शरीर क्यों थक जाता है ?

 

12 / 17

Ideas that have helped mankind

13 / 17

जयशंकर प्रसाद की सफलतम नाट्यकृति है

 

14 / 17

The Earth🌎 has beenwritten by

15 / 17

संर्पूण क्रांति का नारा किसने दिया था ?

 

16 / 17

Indian through a travellers eye has been written by

17 / 17

उर्वशी’ किसकी रचना है ?

 

Your result is being prepared by Madhav Sir.

Your score is

The average score is 53%

0%

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top

क्या इंतज़ार कर रहे हो? अभी डेवलपर्स टीम से बात करके 40% तक का डिस्काउंट पाएं! आज ही संपर्क करें!