आज के दिन सभी के लिए खास ;- 50 में जन्मदिन के लिए सुनहरा कविता By- R.r sir

आज के दिन सभी के लिए खास ;- 50 में जन्मदिन के लिए सुनहरा कविता By- R.r sir

यदि आजकल का इतिहास देखा जाए तो सभी के सफलता के पीछे हर किसी के पीछे किसी ने किसी प्रकार के राज हैं। जो एक अपने आप में सच है जो जानते हैं ,वही मानते हैं आइए हम आज एक ऐसे इंसान के बारे में बात करेंगे जानेंगे जिन्होंने अपने जीवन में संघर्ष के बदौलत उस्मान मर्यादा एवं प्रतिष्ठा को प्राप्त कर रहे हैं वर्तमान समय में भी जो काफी काबिलियत और तारीफ के लायक हैं जानते हैं उन महान टीचर्स EVM कवि के बारे में

 

 

आज के दिन सभी के लिए खास ;- 50 में जन्मदिन के लिए सुनहरा कविता By- R.r sir

जिंदगी की पिच पर,
लग गयी मेरी भी फिफ्टी !
सुख हो या दुःख,
प्रशंसा हो या आलोचना,
मिलन हो या विरह,
बसंत हो या पतझड़,
जीत हो या हार,
हर अनुभव ने बनाया – सजाया,
मुझे फिफ्टी फिफ्टी!
थोड़ा नमकीन थोड़ा मिठास,
थोड़ा खुश थोड़ा उदास,
थोड़ा दूर तो थोड़ा पास,
दहलीज पर खड़ा पचास!
हर स्वाद आधा आधा,
जीवन का मंत्र साधा साधा
***********************

आज के दिन सभी के लिए खास ;- 50 में जन्मदिन के लिए सुनहरा कविता

आज 26 नवंबर है।इस दिन ने मुझे 50 का बना दिया अर्थात् उम्र का अर्धशतक लगाने में मैं कामयाब हुआ!
सबसे पहले उन शिक्षण संस्थानों और अति आदरणीय गुरजनों के प्रति आभार जिनकी शिक्षा – दीक्षा ने मुझमें ऐसी समझ और काबिलियत का बीजारोपण किया जिनसे मैंने संघर्ष का मूलमंत्र जाना।निःसंदेह आज जो कुछ भी बन पाया हूं,उसमें जीवन की अनुकूलता से अधिक प्रतिकूलता का हाथ रहा है और परिस्थितियों ने अपनी सीख के माध्यम से मुझे संवारने में विशिष्ट भूमिका निभायी।समाज और किताब ने मुझे सामंजस्य,समन्वय और सहनशीलता की अमोघ घूँटी पिलायी,इसके लिए उनके प्रति अपनी कृतज्ञता ज्ञापित करना चाहता हूं।
अपने स्वर्गीय माता पिता,दादा दादी और पूर्वजों के प्रति आभार! आपने अपनी लाख कठिनाईयों के बावजूद मुझे संरक्षण की बेहतरीन छतरी दी,स्वतंत्रता दी।


तमाम बुजुर्गों के प्रति भी आभार! आपने मेरा यथोचित मार्गदर्शन और दिशा निर्देशन किया।
सभी साथियों को दिल से धन्यवाद!हर अच्छी और बुरी स्थिति में आपने अपने सान्निध्य की संपत्ति दी।मुझे हमेशा प्रबलित किया, प्रोत्साहित किया।
अपने प्यारे छात्र – छात्राओं को अपरिमित स्नेह और दुलार! आपने मुझमें शिक्षकीय दायित्त्व निर्वहन हेतु पर्याप्त ऊर्जा भरी।
प्रेम और आदर से लवरेज अपने प्रिय परिवार और सगे संबंधियों के प्रति दिल से आभार! आपलोगों ने मुझे संभाला,संवारा और प्रेरित किया।
सभी शुभचिंतकों को सफल,स्वस्थ और आनंदित सुदीर्घ जीवन की सुमंगल कामनाएँ!
ईश्वर से प्रार्थना है कि मुझमें वो ताकत और क्षमता भरने की कृपा करें ताकि मैं अपने इन विशिष्ट लोगों के साथ साथ आमजनों के जीवन में भी सुखद बदलाव लाने का प्रयत्न कर सकूं।अपने देश और समाज की सेवा में अपना जीवन उत्सर्ग कर सकूं।सम्पूर्ण विश्व के कल्याणार्थ अपने को होम कर पाना हीं एक मात्र लक्ष्य हो सके।सभी लोगों के अपने प्रति उनके अनन्य विश्वास की रक्षा कर पाने का सौभाग्य हासिल कर पाऊं।
अवस्था की 51वीं दहलीज पर पांव धरने की शुभ वेला में आपसभी को मेरा मृदुल,विनीत प्रणाम!

आज के दिन सभी के लिए खास ;- 50 में जन्मदिन के लिए सुनहरा कविता 

Today is November 26. This day made me 50, that means I managed to score a half-century!

 

First of all, thanks to those educational institutions and highly respected Gurujans, whose education and initiation sowed such understanding and ability in me, from which I learned the basic mantra of struggle. Undoubtedly, whatever I have become today, the hand of adversity is more than the favorability of life. I have lived and the circumstances played a special role in grooming me through my learning. Society and the book gave me an unfailing sip of harmony, coordination and tolerance, for this I would like to express my gratitude to them.
Gratitude to our late parents, grandparents and ancestors! You gave me the best umbrella of protection, freedom in spite of your lakhs of difficulties.
Thanks also to all the elders! You gave me proper guidance and direction.
Heartfelt thanks to all the friends! In every good and bad situation, you gave me the wealth of your company. You always reinforced me, encouraged me.
Unlimited love and affection to our dear students! You filled enough energy in me to discharge the responsibility of teaching.
Heartfelt gratitude to my dear family and relatives who are loved with love and respect! You have taken care of me, groomed me and inspired me.
Best wishes to all well wishers for a successful, healthy and happy long life!
I pray to God to bless me with strength and ability so that I can try to bring a pleasant change in the lives of common people along with these special people. I can dedicate my life in the service of my country and society. May the only goal be to sacrifice oneself for the welfare of the world. May I be fortunate enough to be able to protect the unique faith of all people towards me.
My soft, humble greetings to all of you at the auspicious time of setting foot on the 51st threshold of the stage!

 

 

 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top

क्या इंतज़ार कर रहे हो? अभी डेवलपर्स टीम से बात करके 40% तक का डिस्काउंट पाएं! आज ही संपर्क करें!