You are currently viewing Ram Navmi 2022 ; रामनवमी क्यों मनाया जाता है इस दिन क्या हुआ था? पूजा व हवन विधि समझे

Ram Navmi 2022 ; रामनवमी क्यों मनाया जाता है इस दिन क्या हुआ था? पूजा व हवन विधि समझे

Ram Navami 2022 ; रामनवमी क्यों मनाया जाता है इस दिन क्या हुआ था? पूजा व हवन विधि समझे-

 

Ram Navami ;- राम राम नवमी एक हिंदुओं का एक मुख्य पर्व माना जाता है जो साल में एक बार होता है जो चैती  नवरात्रि के नौ में दिन भगवान श्री राम के जन्म दिन के शुभ अवसर पर  मनाया जाता है। 

 

 

Ram navami;-

रामनवमी नवरात्रि के नव में दिन यानी भगवान श्री राम के जन्म दिन के रूप में मनाया जाता है माना जाता है कि भगवान श्रीराम का जन्म चैत्र महीने के शुक्ल पक्ष नवमी तिथि को दोपहर के समय कर्क लग्न में हुआ था उस समय चंद्रमा पुनर्वसु नक्षत्र में था और सूर्य मेष राशि में थे रामनवमी के दिन व्रत रखने की भी मान्यता है तो इसे मानने वाले लोग व्रत भी रखते हैं और सारे दिन उपवास के रूप में भोजन ग्रहण नहीं करते हैं।

 

Ram Navami;-

रामनवमी में भगवान राम के पूजा के बाद हवन करने की विधि विधि विधान है रामनवमी के दिन तिल जो और गुग़्गल को मिलाकर हवन करना शुभ माना जाता है इसमें जो के मुकाबले में तिल दुगुना होना चाहिए और इसी के साथ अन्य सामग्री को भी उपस्थित कर हवन करना चाहिए.। 

 

इस दिन घर में हवन आदि करने से घर के अंदर किसी भी प्रकार की बुरा शक्तियों का प्रवेश नहीं हो पाता है और घर में सुख समृद्धि का प्रवेश होता है और भगवान राम की कृपा  सदैव बनी रहती हैं। 

 

साथ ही साथ रामनवमी के दिन राम यंत्र स्थापित करना बड़ा ही शुभ माना जाता है जिससे किसी रामचरितमानस की चौपाई का पाठ करने से भी अधिक लाभ प्राप्त होता है। 

 

 

रामनवमी हर वर्ष चैत्र महीने के शुक्ल पक्ष नवमी के दिन मनाया जाता है ।

इसमें भगवान राम की पूजा शारदा भाव से किया जाता है और लास्ट में हवन भी किया जाता है। 

 

Ram Navami

नवरात्रि के नौवें दिन रामनवमी के रूप में भी मनाया जाता है

♦ रामनवमी कई क्षेत्र में बहुत बड़ी धूमधाम से किया जाता है,l

 

 

Ram Navami;-

 

रामनवमी के दिन राम भगवान के कुछ चौपाई का जाप करने से अनेकों लाभ प्राप्त होते हैं कुछ चौपाई इस प्रकार से है-

♦ रामनवमी के दिन भगवान श्री राम जी को तुलसी पत्र चढ़ाने और भगवान राम के चौपाई का 5 बार जाप करने से आपको आर्थिक पक्ष मजबूत होगा और आप आर्थिक रूप से मजबूत होंगे

♦ दीनदयाल विरिदु संभारी हरहु नाथ मम संकट भारी । 

इस चौपाई का जाप भगवान श्री राम जी को पेड़े का भोग लगाने के साथ इस चौपाई का यदि 7 बार जाप करने से आपको हर प्रकार के संकटों से छुटकारा मिलेगा। 

♦ सीताराम चरण रति मोरे अनुदिन बढहिं अनुग्रह तोरे । 

रामनवमी के दिन श्री राम को हल कराने और इस चौपाई का 5 बार जप करने से आपको संतान सुख की प्राप्ति होगी। 

 

♦ सुफल मनोरथ होई तुम्हारे राम लखन सुनिमये सुखारे। 

रामनवमी के दिन भगवान राम को पीले रंग का फूल चढ़ाने और इस चौपाई का 5 बार जाप करने से आपको विवाह या फिर शादी में आ रहे संकट अर्चना इत्यादि दूर होगी। 

 

♦ प्रभु की कृपा भयो सब काजू जन्म हमार सुफल भी आजू। 

इस चौपाई का जाप भगवान श्रीराम को बूंदी के लड्डू चढ़ाते समय 11 बार करने से आपको पुराने से पुराने मुकदमे में सफलता प्राप्त होगी साथ ही साथ हर संकट से आप मुक्ति मिलेगी। 

 

 

♦ पवन तनय बल पवन समाना बुद्धि विवेक विज्ञान विधाना। 

इस चौपाई य मंत्र का जाप रामनवमी के दिन श्री राम जी को शुद्ध पकी हुई हलवे का भोग लगाते समय इस चौपाई का एक ही स्वर जाप करने से बौद्धिक क्षमता शैक्षणिक योग्यता में वृद्धि होगी ,पढ़ाई लिखाई में आ रही बाधा से मुक्ति मिलेगी। 

 

इसके अलावा अगर आप अपने किसी विशेष मुहूर्त की प्राप्ति करना चाहते हैं तो राम भगवान के बेसन से बनी मिठाई का भोग लगाएं और इस चौपाई का एक माला जप करें चौपाई कुछ इस प्रकार से- मोर मनोरथ जानहु  नीचे । बसहु सदा उर पुर सबहि  के । 

 

इस प्रकार रामनवमी में सभी बातों को ध्यान रखते हुए अच्छी तरह से पूजा किया जाए तो भगवान की कृपा आप के 

के सभी परिवार पर सदैव बना रहता है  और हमेशा सकारात्मक भावना उत्पन्न होते रहते हैं।

जिससे कि आप किसी भी विषय क्षेत्र में काफ़ी उन्नति कर सकते हैं

 

 

पोस्ट केवल उन्हीं लोगों के लिए जो रामनवमी को मानते हैं या फिर भगवान में विश्वास करते हैं

 

 

 

 

 

 

 

Leave a Reply