You are currently viewing अगर आप चिकन खाना पसंद करते हैं तो अब हो जाएं सावधान  बिहार में वर्ल्ड फ़्लू का दस्तक शुरू हो चुका है मुर्गियों को मारने का काम शुरू जाने पूरी खबर

अगर आप चिकन खाना पसंद करते हैं तो अब हो जाएं सावधान बिहार में वर्ल्ड फ़्लू का दस्तक शुरू हो चुका है मुर्गियों को मारने का काम शुरू जाने पूरी खबर

अगर आप चिकन खाना पसंद करते हैं तो अब हो जाएं सावधान बिहार में वर्ल्ड फ़्लू का दस्तक शुरू हो चुका है मुर्गियों को मारने का काम शुरू जाने पूरी खबर-

 

 

बर्ड फ्लू इन बिहार Bird flu in bihar;-

यदि आप भी चिकन  खाना पसंद करते हैं यानी चिकन कहने का मतलब हुआ यदि आप मुर्गा का मीट खाना पसंद करते हैं, तो अब सावधान हो जाएं  ।

क्योंकि बिहार में वर्ड flu तेजी से बढ़ना शुरू कर दिया है। सुपौल के छपकाही गांव में पक्षियों के सैंपल जांच में बर्ड फ्लू की पुष्टि हुआ है ।

जिसके बाद एहतियात के तौर पर गांव में पशुपालन विभाग के कर्मियों की तैनाती कर दी गई है। 

 

 

साथ ही आसपास के इलाकों में मुर्गियों को मारने का भी काम शुरू कर दिया गया है वर्ल्ड फ्लू की पुष्टि होने के बाद पूरे इलाके में लोगों के बीच हड़कंप मच चुका है। लोगों में डर की भावना आ गया है, पशुपालन विभाग टीम ने बृहस्पतिवार को गांव से करीब 1 किलोमीटर की दूरी में मुर्गे मुर्गियों को नष्ट करने का काम शुरू कर दिया है। जबकि 9 किलोमीटर के क्षेत्र के इलाकों में जांच शुरू कर दी गई है। 

 

 

सरकारी पदाधिकारी के आदेश पर पक्षियों को मारने का काम शुरू किया गया-

इसके लिए पशुपालन विभाग के निदेशक के आदेश के उपरांत बृहस्पतिवार को डीएम कौशल कुमार और एस पी , डी अमरकेस के संयुक्त आदेश के बाद प्रीपेड रिस्पांस टीम का गठन कर पक्षियों को मारने का काम शुरू कर दी गई है। 

 

 

इस तरह मुर्गे मुर्गियों की क्लीन के लिए पशुपालन विभाग के द्वारा चार टीमों का गठन किया गया है।

जो वास्तव में सुपौल के सदर थाना क्षेत्र स्थित छपकाही  गांव में करीब 2 सप्ताह पहले दर्जनों पक्षों की तरफ तरफ कर मौत हो गई थी इस घटना के बाद पूरे क्षेत्र में हड़कंप मच गया था ग्रामीणों ने इस घटना की सूचना वन विभाग को दी थी मरने वाले पक्षियों में कौवा कोयल मुर्गी और बत्तख के भी शामिल थे अचानक करीब 4 दर्जन से अधिक पक्षियों की मौत हो जाने से इलाके में काफी सनसनी फैल गई थी । 

 

 

लोगों की सूचना मिलते ही वन विभाग की टीम गांव के पास पहुंचे वन विभाग की टीम ने प्रखंड पशुपालन विभाग के पदाधिकारी को इस घटना की सूचना दी पशुपालन विभाग की टीम ने पक्षियों का सैंपल लेकर जांच के लिए भेजा था स्थानीय लोगों ने पहली नजर में ही वर्ल्ड फ्लू की आशंका जता दी थी सैंपल की जांच की रिपोर्ट में भी वर्ल्ड फ्लू की पुष्टि हुई है 1 फ्लोर रिपोर्ट आते हैं एक बार फिर इस इलाके के लोग दहशत में हैं। 

 

 

 Bird फ्लू क्या है?

 

बताते चलें कि वर्ल्ड फ्लू एक पक्षियों में होने वाला एक बहुत ही खतरनाक बीमारी है, जो एक संक्रामक है, जो एक पक्षी से दूसरे पक्षी में साथ हि एक मानव इत्यादि जानवरों में फैलने वाले एक खतरनाक रोग साबित हो रहा है ।

जिसके लिए सरकार की ओर से भी कदम उठाया गया है ,अब इसे रोकने के लिए तुरंत पक्षी को एक विशेष स्थान पर पहुंचाया जाए या मिट्टी के अंदर 2 फीट गहराई के अंदर उसे ढक दिया जाए ताकि उससे उत्पन्न होने वाली की  सूक्ष्मजीव वह बाहर ना आ पाए जिससे किसी और को वह प्रभावित ना कर सके। 

 

 

इस तरह चिकन यानी मुर्गा का मीट खाने वाले कुछ दिन परहेज करें अर्थात नो खाए क्योंकि यह एक पक्षी में होने वाला एक खतरनाक बीमारी है जो मानव में भी फैलने के बाद या बहुत ही विनाशक रूप ले सकता है बता दिया जाए कि यह मुर्गी में खासकर होने वाला एक खतरनाक बीमारी है इसलिए इनका नाम चिकन bird glu ही रख कहा गया हैं।

 

Leave a Reply