You are currently viewing बिहार विद्यालय परीक्षा समिति पटना ग्रेस अंक क्या है अच्छे रिजल्ट देने की तैयारी  किन छात्रों को मिलेगा ग्रेस अंक किस छात्र को नहीं मिलेगा

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति पटना ग्रेस अंक क्या है अच्छे रिजल्ट देने की तैयारी किन छात्रों को मिलेगा ग्रेस अंक किस छात्र को नहीं मिलेगा

Table of Contents

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति पटना ! ग्रेस अंक क्या है? अच्छे रिजल्ट देने की तैयारी किन छात्रों को मिलेगा ग्रेस अंक किस छात्र को नहीं  मिलेगा What is grace number?

बिहार बोर्ड इंटर की कॉपियों का मूल्यांकन बिल्कुल तरह से समाप्त की सीमा पर है और इसी बीच रिजल्ट तैयार किया जा रहा है काफी बच्चे को इसमें ग्रेस अंक दिया जा रहा है किन छात्रों को ग्रेस अंक मिलेगा और किन छात्र को ग्रेस अंक नहीं मिलेगा तो मैं बात कर लूं  जो भी छात्र एक से दो विषय में फेल यदि करते हैं उन्हें 10 नंबर तक ग्रेस अंक दिया जाएगा 5 से 10 नंबर से भी फेल करते हैं तो उन्हे 5 से 10 नंबर ग्रेस अंक देकर उन्हें पास किया जाएगा आप समझ सकते हैं यदि कोई बच्चे किसी विषय में 10 नंबर से अधिकतम 10 नंबर से यदि वह फेल होते हैं उन्हें 10 नंबर तक ग्रेस मिलेगा बाकी अगले सब्जेक्ट में भी यदि वह fail करते हैं तो उसमें उनको ग्रेस अंक नहीं मिलेगा । एक विषय में फेल होते हैं तो वैसे  छात्रों को मिलेगा अधिकतम 10 नंबर दिया जाएगा।

सबको क्यों नहीं मिलेगा ग्रेस अंक? 

बिहार बोर्ड के द्वारा यह नियम बनाया गया है कि ग्रेस अंक केवल उसी छात्र को दिया जाए जो छात्र अधिकतम दो विषय में फेल करते हैं मान लीजिए कोई छात्र यदि 10 नंबर से दो विषय मिलाकर अगर फेल होते हैं तो उन्हें 10 अंक देकर के उन्हें पास माना जाएगा यानी आप समझ सकते हैं कि आप के विषय में पांच विषय आपका कंपलसरी होता है अर्थात अनिवार्य होता है यदि उन पांच विषय में से यदि किसी भी विषय में यदि आप 10 नंबर से फेल करते हैं तो आपको 10 नंबर देकर के पास किया जाएगा यदि आप दो विषय में फेल करते हैं 5-5 नंबर से तो आपको 5-5 देकर नंबर और आपको पास माना जाएगा यह बिहार बोर्ड का बहुत ही बड़ा कदम है और यह छात्रों के हित में कदम । एक शब्द में भी आप समझ सकते हैं कि ग्रेस अंक जो होता है आपको टोटल विषय में मात्र 10 नंबर ही दिया जाता है चाहे आप किसी भी विषय में फेल है दो नंबर से चार नंबर से पांच नंबर से यदि आपको मैथ में मान लीजिए 28 नंबर आता है तो आपको उसमें मात्र दो नंबर देकर पास किया जाएगा फिर किसी विषय में यदि आप 5 नंबर कम है तो उसमें पांच नंबर देकर पास किया जाएगा यानी कुल मिलाकर आपको 10 नंबर से अधिक आपको grace अंक नहीं मिलेगा छात्र उसी को ग्रेस  अंक मिलेगा जो फेल करते हैं जो पास है उन छात्रों को ग्रेस अंक नहीं मिलेगा

ग्रेस अंक क्या होता है? 

What is grace number?

बिहार बोर्ड के द्वारा विद्यार्थियों के हित में ग्रेस अंक की एक व्यवस्था किया गया है जिसके अंतर्गत यदि कोई छात्र अधिकतम 10 नंबर से यदि वह फेल होते हैं किसी भी सब्जेक्ट में तो उन्हें 10 नंबर देकर के पास किया जाएगा यह विद्यार्थियों के लिए और बिहार बोर्ड के सभी छात्रों के लिए बहुत बड़ी बात है और यह सभी छात्रों को मिलता है , ग्रीस अंक केवल उन्हीं छात्रों को मिलता है जो किसी भी विषय में फेल करते हैं जिस छात्र को 30 नंबर से ऊपर हर एक विषय में आता है उन छात्रों को ग्रेस अंक नहीं दिया जाता है

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के द्वारा यह अनुमान लगाया गया है कि जब से ग्रेस अंक की शुरुआत हुई है बिहार का रिजल्ट बहुत अच्छा सुधार हुआ है और यह सुधार होते हुए नजर आ रहा है और काफी बच्चे इसमें अच्छी तरह से पास कर पाते हैं

It has been estimated by the Bihar School Examination Committee that since the introduction of grace marks, the result of Bihar has improved very well and it seems to be improving and many children are able to pass it well.

 

बिहार बोर्ड परीक्षा 2022 में कितने छात्रों को मिलेगा ग्रेस अंक? 

बिहार बोर्ड परीक्षा 2022 के जितने भी छात्र मैट्रिक और इंटर परीक्षा दिए हैं उन सभी छात्रों में से जिस भी छात्र को किसी भी विषय में 30 नंबर से कम आता है तो उन विद्यार्थियों को 10 नंबर ग्रेस अंक के दिया जाएगा तो अभी तक मैं बात करूं तो 1648000 विद्यार्थी मैट्रिक परीक्षा दिए हैं उन विद्यार्थियों में से जिस भी छात्र को यदि पास मार्क्स 30 नंबर भी नहीं आ पाता है और उन्हें 10 नंबर से फेल करते हैं तो ऐसे छात्र को 10 नंबर grace अंक दिया जाता है जिस विद्यार्थी यदि पास करते हैं तो उन्हें ग्रेस अंक नहीं दिया जाता है

ग्रेस अंक देना  अच्छा होता है या फिर खराब

जिस भी विद्यार्थी को ग्रेस अंक दिया जाता है उनके मार्कशीट पर यह दर्शाया जाता है कि इस विद्यार्थी को ग्रेस अंक मिले हैं और यह अगर देखा जाए तो अच्छी बात नहीं होता क्योंकि विद्यार्थी कमजोर थे इसी वजह से उनको ग्रेसिंग दिया जाता है और वास्तव रूप में वह फेल ही माना जाता है लेकिन उन्हें बिहार बोर्ड की कृपा से उन्हें पास कर दिया जाता जिससे वह पास कर पाते हो इसलिए ग्रेस अंक अच्छा नहीं होता है प्रयास के लिए विद्यार्थी पास कर जाए तो ग्रेस अंक की जरूरत ही ना पड़े

 

Leave a Reply