LNMU pg 1st semester Admission 2023 ।। इस दिन से ऑनलाइन आवेदन जाने पूरा प्रक्रिया

LNMU pg 1st semester Admission 2023 ।। इस दिन से ऑनलाइन आवेदन जाने पूरा प्रक्रिया

ललित नारायण मिथिला यूनिवर्सिटी के द्वारा स्नातक तृतीय खंड साइंस आर्ट्स कॉमर्स तीनों का रिजल्ट जारी कर दिया है जिन छात्रों का रिजल्ट बेहतर रहा या फिर जो पास कर चुके हैं वह सब का इंतजार है कि पीजी में नामांकन आखिर कब से होगा अगर आप भी बेसब्री से इंतजार कर रहे थे तो मिथिला यूनिवर्सिटी के दौरा इसके लिए हरी झंडी दिखा दी है 10 जनवरी से आप ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं ऑनलाइन आवेदन करने में क्या क्या सावधानियां बरतनी है पूरी प्रक्रिया कैसी होगी इसकी जानकारी के लिए इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें साथ ही पीजी करें या ना करें इससे करने से क्या फायदा है जानिए इस पोस्ट में । 

   Join teligram

LNMU pg 1st semester Admission 2023 ।। इस दिन से ऑनलाइन आवेदन जाने पूरा प्रक्रिया

 ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय में पीजी फर्स्ट सेमेस्टर (सत्र 2022-24 ) में नामांकन की तैयारियां जोरों पर हैं। नामांकन के लिए ऑनलाइन आवेदन इस माह की 10 तारीख के बाद शुरू हो सकता है। डीएसडब्ल्यू डॉ. विजय कुमार यादव ने गुरुवार को बताया कि ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया शुरू करने के लिए पोर्टल तैयार हो रहा है। 10 से 15 जनवरी

पीजी में नामांकन के लिए आवेदन इसी माह

■ ऑनलाइन आवेदन के लिए पोर्टल हो रहा तैयार

■ 10 जनवरी के बाद नामांकन हो सकता शुरू

के बीच पोर्टल चालू होने की संभावना है। पोर्टल चालू होते ही छात्र पीजी में नामांकन के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकेंगे।

डीएसडब्ल्यू ने बताया कि ऑनलाइन आवेदन प्राप्त होने के बाद मेधा, संस्थान के च्वाइस एवं आरक्षण कोटि के आधार पर चयन सूची जारी की जाएगी। उन्होंने बताया कि आवेदन की प्रक्रिया शुरू करने को लेकर तेजी से काम चल रहा है। बता दें कि स्नातक तृतीय खंड का परीक्षा परिणाम जारी होने के बाद से ही पीजी में नामांकन प्रक्रिया शुरू होने का छात्र इंतजार कर रहे हैं।

 

LNMU pg 1st semester Admission 2023 ।। पीजी करना चाहिए या नहीं

 

अगर आप सोच रहे हैं कि पीजी करें या ना करें तो एक सुबह मेरी ओर से भी यदि आप चाहते हैं फ्यूचर में यानी भविष्य में कुछ बड़ा करना तो पी जी निश्चित रूप से करें यदि आप चाहते हैं जल्द ही किसी मुकाम पर पहुंचना तो इसके लिए आप कोई बाहरी कोर्स कर सकते हैं यदि आप बाहरी कोर्स करते हैं तो इससे आप जल्दी किसी ने किसी मुकाम को हासिल कर लेंगे लेकिन पीजी करने के बाद आप कुछ विशेष हासिल नहीं हो पाएगा बस आप केवल डिग्री आपको मिलेगी उच्च शिक्षा के लिए जाने जाइएगा साथ एक अच्छे व्यक्ति के रूप में आपकी पहचान होगी करना है तो आपका ऊंचा होगा या जल्दी पहुंचना चाहते हो तो इसके लिए आपको बाहरी कोर्स जरूर करें यह सब आपको कैसा लगा इस पोस्ट के नीचे जाकर कमेंट में बताएं।

 

पीजी करने का फायदा;-

पीजी करने का सबसे बेहतर फायदा यह है कि अगर आप उस लक्ष्य को रखे हुए हैं जैसे यूपीएससी जैसे बड़े-बड़े चीज अगर आप सोच रखे हैं तो इसके लिए पीज करना अनिवार्य है वैसे आप ग्रेजुएशन के बाद भी यूपीएससी परीक्षा में बैठ सकते हैं लेकिन इसके बाद भी यदि आप पीजी करते हैं तो पीएचडी करना आपके लिए आसान हो जाएगा साथ ही आपके नाम के पीछे डॉक्टर की उपाधि मिल जाएगी जिससे आप डॉक्टर भी कल आएंगे इसलिए पीजी करने का एक विशेष फायदा यही है साथ ही गेस्ट टीचर के रूप में भी आप की भर्ती हो सकते हैं ऐसे कई क्षेत्र है जिसमें आप गेस्ट के रुप में जा सकते हैं यानी आपको मौका मिलेगा इसलिए अभी पीजी करना फायदा है लेकिन इसका कुछ विशेष फायदा नहीं है।

 

Part- 3 Results – Click Here

 

0 votes, 0 avg
22
Created on By Madhav Ncert Classes

12th Chemistry तत्वों का निष्कर्षण Test Or Quiz

1 / 30

बिस्मथ की सबसे स्थाई ऑक्सीकरण अवस्था है

 

2 / 30

आयरन के निष्कर्षण में उत्पन्न धातुमल है:

 

3 / 30

निम्नलिखित में कौन सल्फाइड अयस्क हैं ?

 

4 / 30

फेन प्लवन विधि से किस अयस्क का सान्द्रण किया जाता है ?

 

5 / 30

.डोलोमाइट खनिज में पाये जाते हैं

 

6 / 30

धातु में चमक होने का मुख्य कारण है

7 / 30

मैलेकाइट अयस्क है

 

8 / 30

गैलेना किस धातु का अयस्क है ?

 

9 / 30

गुरुत्व पृथक्करण विधि से सान्द्रित किया जाता है

 

10 / 30

सदैव मुक्त अवस्था में मिलनेवाली धातु है:

 

11 / 30

कच्चा लोहा (Pig Iron) में कौन-सा तत्त्व अत्यधिक मात्रा में अशुद्धि के रूप में उपस्थित रहता है ?

 

12 / 30

समुद्री जल में पाये जाने वाला तत्त्व है

 

13 / 30

बेसीमरीकरण का प्रयोग किस धातुकर्म में किया जाता है ?

14 / 30

पृथ्वी की सतह पर सर्वाधिक प्राप्त तत्त्व है।

 

15 / 30

सभी अयस्क खनिज है किन्तु सभी खनिज अयस्क नहीं हैं क्योंकि

 

16 / 30

आग बुझाने के उपयोग में आने वाला पदार्थ

 

17 / 30

आयरन का महत्त्वपूर्ण अयस्क हैः

 

18 / 30

ऑक्साइड अयस्क से धातु निष्कर्षण की सामान्य विधि हैः

19 / 30

.कॉपर पायराइट का सूत्र है।

 

20 / 30

डी०एन०ए० संरचना में एडेनीन एवं थायमीन के बीच हाइड्रोजन बंध की संख्या

 

21 / 30

फेन प्लवन विधि द्वारा किस प्रकार के अयस्क का सान्द्रण किया जाता है ?

 

22 / 30

स्वतः अपचयन विधि से निम्न में से किस धातु का निष्कर्षण किया जाता है ?

 

23 / 30

निम्न में से कौन-सा एल्युमिनियम का अयस्क नहीं है ?

 

24 / 30

फूल्स गोल्ड किसे कहते हैं ?

 

25 / 30

Van-Arkel विधि से शुद्ध किया जाता है।

 

 

26 / 30

विधुत स्विचों का निर्माण होता है

 

27 / 30

अर्द्धचालक के रूप में उपयोग के लिए जर्मेनियम का शोधन किस विधि द्वारा का किया जाता है ?

 

28 / 30

सल्फाइड अयस्कों को सामान्यतः …………. से संकेद्रित करते हैं।

29 / 30

फफोलेदार कॉपर (Blister copper) है

 

30 / 30

निम्नलिखित में कौन-सी धातु प्रकृति में मुक्त अवस्था में पाई जाती है

Your score is

The average score is 45%

0%

 

 

 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top
The team at WTS provides professional services for the development of websites. We have a dedicated team of experts who are committed to delivering high-quality results for our clients. Our website development services are tailored to meet the specific needs of each project, ensuring that we provide the best possible solutions for our clients. With our extensive experience and expertise in the field, we are confident in our ability to deliver exceptional results for all of our clients.

क्या इंतज़ार कर रहे हो? अभी डेवलपर्स टीम से बात करके 40% तक का डिस्काउंट पाएं! आज ही संपर्क करें!