You are currently viewing Covid-19  बूस्टर डोज 18 वर्ष से ऊपर सभी को लगेगा 10 अप्रैल से अब देना होगा इतना पैसा जानें पूरी खबर

Covid-19 बूस्टर डोज 18 वर्ष से ऊपर सभी को लगेगा 10 अप्रैल से अब देना होगा इतना पैसा जानें पूरी खबर

Covid-19 बूस्टर डोज 18 वर्ष से ऊपर सभी को लगेगा 10 अप्रैल से अब देना होगा इतना पैसा जानें पूरी खबर-

 

Covid Booster Dose;- वर्ष से ऊपर के सभी लोगों को लग सकेगा 10 अप्रैल से बूस्टर डोज क्या इसमें पैसा भी लगेगा या फिर यह भी फ्री होगा पहले और दूसरे रोज की तरह;-

 

स्वास्थ्य मंत्रालय ने घोषणा की है कि अब जो भी लोग  1st यानी पहले और दूसरे dose ले चुके हैं l

और उन्हें 9 महीने से ऊपर हो चुका है तो वैसे लोग यदि 18 वर्ष से ऊपर है तो उन्हें बूस्टर डोज लगेगा। 

 

अब तक ढाई करोड़ से ऊपर लोगों को लग चुका है बूस्टर डोज जिसमें सभी सरकारी कर्मचारी समेत अन्य लोग हैं-

 

पूरे विश्व में कोरोना महामारी के खिलाफ जंग अभी भी जारी है, इसी बीच भारत में कोरोना मरीजों की संख्या में काफी कम यानि इसके मामले धीरे-धीरे काफी कम हो गए हैं

लेकिन वैक्सीनेशन की प्रक्रिया अभी भी जारी हैं, इसी बीच केंद्र सरकार की ओर से एक बड़ी घोषणा आई है

कि अब 18 वर्ष से ऊपर सभी वयस्क को 3rd dose खुला उपलब्ध कराने का फैसला किया है ।

धन के दोनों खुराक लगवाने के बाद अब बूस्टर डोज भी लेना का ऐलान किया गया है।

स्वास्थ्य मंत्रालय ने रविवार को घोषणा की है कि अब नीजी यानी प्राइवेट केंद्रों पर 18 से अधिक उम्र वाले लोग जनसंख्या समूह को कोविड-19 की खुराक दी जाएगी इससे पहले फ्रंटलाइन स्वास्थ्य कर्मियों और   60 साल से अधिक उम्र के लोगों के लिए पूर्व शर्त के अनुसार बूस्टर डोज खुराक देने की अनुमति थी यह covid पहले और दूसरे रोज की तरह होगी। 

 

Covid Booster Dose

बूस्टर डोज लेने के लिए नियम और शर्तें-

बूस्टर डोस लेने के लिए निजी टीकाकरण केंद्रों पर उपलब्ध होगा ,निजी टीका केंद्रों के माध्यम से 18 वर्ष से अधिक उम्र वाले  सभी वयस्क को खुराक दिया जाएगा।

यह काम 10 अप्रैल यानी रविवार से शुरू हो जाएगा ।

इसके  लिए 18 साल से अधिक उम्र होना अनिवार्य है, साथ ही यह डोज वही ले सकेंगे जिन्होंने कोविड-19 की पहली और दूसरी खुराक पूरी कर चुकी है। 

यह सुविधा सभी निजी संस्थान यानी टीकाकरण केंद्रों पर उपलब्ध होगी booster dose लगवाने के लिए लोगों को पैसा देने होंगे सीरम इंस्टिट्यूट के सीईओ आधार पूनावाला के मुताबिक कोविशील्ड के बूस्टर डोज की कीमत ₹600 रखी गई है । 

 

 

सबसे बड़ा सवाल क्या सरकार नहीं बूस्टर डोज बिल्कुल तरह से अनिवार्य कर दिया है? 

यदि इस प्रश्न का जवाब बताया जाए तो बिल्कुल  ऐसा नहीं है ,यह व्यक्ति पर निर्भर करता है यह लोगों पर निर्भर करता है, कि कौन ले या फिर ना ले इसका कोई खास विशेष महत्व नहीं है ।

अब तक देश में सभी 15 साल से अधिक उम्र के लगभग 95% लोगों को कम से कम एक covid vaccine की खुराक मिली है।

जबकि 83 % भी लोगों ने दोनों खुराक  ले लिए हैं, स्वास्थ्य कर्मियों अग्रिम पंक्ति के कार्यकर्ताओं और 60 से अधिक जनसंख्या समूह को लगभग ढाई करोड़ से अधिक लोगों को एहतियाती खुराक भी दी गई है सभी के मन में यह सवाल उठ रहे हैं कि क्या सरकार ने बूस्टर डोज अनिवार्य कर दिया है जवाब बिल्कुल ऐसे नहीं है जैसे कि हमने ऊपर में ही आपको बता चुके हैं । 

 

 

बूस्टर डोज से हो सकती है यह नुकसान:

 

जैसे कि आप सब को भली-भांति पता होगा कि कोविड-19 की पहली खुराक लेने के बाद  लोगों ने यह अनुभव किया था कि लोगों को कुछ और अस्थाई लक्षण दिखाई दिया था।

तो इसमें भी ऐसा हो सकता है जैसे कि गले में खराश हाथ में सूजन बुखार शरीर में दर्द सिर दर्द इत्यादि इसमें शामिल है कुछ लोगों को ठंड लगना सूजन लिंफ नोड्स भी हो सकता है हालांकि इसका यह संकेत नहीं है कि आप बीमार है लेकिन या प्रतिरक्षा प्रणाली विकसित होने या टीके के प्रति प्रतिक्रिया में इस तरह के कुछ लक्षण दिखाई पड़ सकते हैं।

साथ ही मंत्रालय ने  यह भी साफ किया है कि पात्र आबादी के लिए पहली और दूसरी खुराक के लिए सरकारी टीका केंद्रों के माध्यम से चल रहे मुफ्त टीकाकरण कार्यक्रम अभी भी जारी है साथ ही साथ स्वास्थ्य कर्मियों अग्रिम पंक्ति के कार्यकर्ताओं और 60 से अधिक आबादी के लिए बूस्टर खुराक जारी रहेगा और इसमें तेजी लाई जाएगी । 

 

 

इसका क्या फायदा होगा

 

यदि इसके फायदे की बात किया जाए तो वह 18 के बाद शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता और अधिक बढ़ जाएंगे जिससे व्यक्ति को अन्य बीमारी भी होने की संख्या कम हो जाएगी। 

 और इसका कोई विशेष लाभ नहीं है

 

Leave a Reply