You are currently viewing Class 10 Non- Hindi पाठ-1 तू जिंदा है… तो कविता महत्वपूर्ण प्रश्न उत्तर

Class 10 Non- Hindi पाठ-1 तू जिंदा है… तो कविता महत्वपूर्ण प्रश्न उत्तर

Class 10 Non- Hindi पाठ-1 तू जिंदा है… तो कविता महत्वपूर्ण प्रश्न उत्तर

जो छात्र इस आर्टिकल में आप लोग जानेंगे कक्षा 10 और हिंदी प्रथम पाठ तू जिंदा है तो जिंदगी की जीत में यकीन कर का महत्वपूर्ण प्रश्न उत्तर ध्यान रखें पूरे पाठ का सारांश सहित प्रश्न उत्तर दिया गया इसलिए सभी को ध्यान से पढ़ें इसके अलावा भी अन्य सब्जेक्ट की तैयारी के लिए आप होम पेज पर जाकर चेक कर सकते हैं पीडीएफ के लिए मॉडल पेपर पर क्लिक करके pdf डाउनलोड करें

 

 

 

Class 10 Non- Hindi पाठ-1 तू जिंदा है… तो कविता महत्वपूर्ण प्रश्न उत्तर

1. तू जिन्दा है तो

– शंकर शैलेन्द्र

यह कविता गहरे जीवन राग और उत्साह को प्रकट करती है तथा अतीत के दुःखद पलों को भूलाकर आशा और जीत की नई दुनियाँ को स्वागत करने के लिए प्रेरणा दिया गया है ।

तू जिन्दा है तो जिन्दगी को जीत में यकीन कर अगर कहीं है स्वर्ग तो उतार ला जमीन पर । अर्थ- हे मनुष्य ! यदि तू जिन्दा है तो जिन्दगी में जीत होगी, यह विश्वास रखो । यदि कहीं स्वर्ग है तो तुम अपने कर्म से उसे जमीन पर उतार ले । ‘ये गम के और चार ………………

तू जिन्दा है तो अर्थ – गम और अत्याचार के कुछ दिन बीत गये। आज के दिन भी यदि तुम दुःख में है तो वे भी गुजर जाएँगे क्योंकि दुःख के हजारों दिन बीत चुके हैं। इस जिन्दगी में कभी-न-कभी तो बहार आएँगी ही । तुम अपने कर्म से स्वर्ग को पृथ्वी पर ला सकते हैं । यदि तू जिन्दा है तो जिन्दगी के जीत पर विश्वास रखो ।

सुबह और शाम के तू जिन्दा है तो 1 अर्थ- सुबह और शाम लाल रंग से रंगे गगन को चुमकर जमीन झूम-झूमकर गाँती है। अर्थात् सुख-दुख दोनों में एक समान रहने वाले आकाश को देखकर पृथ्वी आनन्दित हो जाती है । उसी प्रकार, मानव! तभी मुझे आनन्दित कर दे। अगर कहीं स्वर्ग है तो उसे उतारकर जमीन पर ला दे। यदि जिन्दा है जिन्दगी की सफलता पर विश्वास करो । तू

हजार भेष घर के आई मौत तू जिन्दा है तो । अर्थ- दु:ख हजारों रूप धारण कर तेरे द्वार पर आये लेकिन सभी हारकर चले गये। नई सुबह प्रतिदिन आकर तूझे नई उमर प्रदान करती आ रही है । वस्तुतः यदि स्वर्ग कहीं है तो उसे उतारकर तू जमीन पर ला दो । तू जिन्दा है तो जिन्दगी में सफलताएँ अवश्य मिलेंगी, ऐसा विश्वास करो ।

हमारे कारवां को मंजिलों अर्थ- हमारे काफिला (मानव समुदाय) को मंजिलों (लक्ष्य) का इंतजार ………… तू जिन्दा है तो है जो आँधियों और बिजलियां (दुःख ही दुःख) के पीठ पर सवार होकर आगे बढ़ रहे हैं। तू भी बढ़ो और कदम से कदम मिलाकर अपने मंजिलों को हम सब एक साथ प्राप्त करेंगे। अगर स्वर्ग कहीं है तो उसे उतारकर जमीन पर ला दो । यदि तू जिन्दा है तो जिन्दगी में सफलता अवश्य मिलेगी ऐसा विश्वास रखो ।

जमीं के पेट में पली अन …………. तू जिन्दा है तो अर्थ- जमीन के गर्भ में आग और भूकम्प दोनों पलते हैं लेकिन धरती माँ कभी घबराती नहीं है। उसी प्रकार भूख (बेकारी – बेरोजगारी) रूपी रोग का अपना राज्य (स्वराज) भी नहीं टिक सकेंगे। विपत्तियों के सर कुचलकर हम सब एकता के सूत्र में बँधकर सदैव एक साथ चलते रहेंगे। अगर कहीं स्वर्ग है तो उसे उतारकर जमीन पर ले आओ । तू जिन्दा है तो जिन्दगी में सफलता पर विश्वास करो ।

बुरी है आग पेट तू जिन्दा है तो अर्थ- भूख और अपराध दोनों बुरें हैं। यदि ये दोनों समाप्त नहीं हुए तो एक दिन इंकलाब ( विरोध की आवाज) बनेंगे। जिससे जुल्म के महल ढह

जाएँगे। नये घर बनेंगे। अर्थात् शांति का माहौल बनेगा। अगर स्वर्ग कहीं है तो अपने परिश्रम और सत्कर्म से स्वर्ग को पृथ्वी पर ला सकते हैं। हे मानव! तू यदि जिन्दा है तो जिन्दगी में सफलता मिलेगी। इस बात पर विश्वास रखो ।

शब्दार्थ — यकीन = भरोसा । सितम् = जुल्म गुजर = बीतना । चमन = बाग, फुलवारी बहार = बसन्त, शोभा सुन्दरता । जुल्म = अत्याचार | सिंगार = श्रृंगार कारवां = जलजले ‘भूकंप । स्वराज काफिला । जमीं अपना राज्य = जमीन । अगनी = आग।

 

 

Biharboard topper kaise बने how to become bihar board topper 
Click Here
10th taiyari kaise kare – Click Here

 

 

important link 

CLASS 10TH  CLICK HERE
CLASS 12TH  CLICK HERE 
MODEL PAPER  CLICK HERE 
IAS / IPS KI TAIYARI KAISE KARE  CLICK HERE 
Which guess paper to read in Graduation  CLICK HERE 
HOE TO BECOME A TOPPER  CLICK HERE 
DAILY ONLINR TEST  CLICK HERE
SULLABUS  CLICK HERE 
IMPORTANT LINK   CLICK HERE
HOME PAGE  CLICK HERE 

 

 

 

 

 

Leave a Reply