Biharboard Exam 2023 ;- भयंकर घोषणा परीक्षा पैटर्न में हुआ कुछ बड़ा बदलाव जल्दी देखे वरना पछताओगे

Biharboard Exam 2023 ;- भयंकर घोषणा परीक्षा पैटर्न में हुआ कुछ बड़ा बदलाव जल्दी देखे वरना पछताओगे

 

दोस्तों इस आर्टिकल में आप जानेंगे बिहार विद्यालय परीक्षा समिति की ओर से परीक्षा pattern में कुछ नए बदलाव किया गया है , यह बदलाव सभी छात्र छात्राओं को जानना चाहिए । जो बिहार बोर्ड परीक्षा 2023 में देने वाले हैं। अगर पैटर्न को आप सही तरह से समझ लेते हैं। और तैयारी आपको कहां से करना है। जिससे आपका तैयारी बेहतर हो पाए। साथ ही परीक्षा में बेहतर से बेहतर अंक आप ले paayenge इसके लिए भी पैटर्न में बताया गया है ।

 

 

Biharboard Exam 2023 ;- भयंकर घोषणा परीक्षा पैटर्न में हुआ कुछ बड़ा बदलाव जल्दी देखे वरना पछताओगे

 

| बिहार बोर्ड ने दीर्घ उत्तरीय प्रश्नों में आंतरिक विकल्प को कर दिया समाप्त, प्रश्नों की संख्या बढ़ी

इंटर व मैट्रिक के प्रश्न पत्र का पैटर्न बदला

छात्राओं का परीक्षा केंद्र गृह अनुमंडल में होगा

नये कदम

 

लघु उत्तरी 70 अंक वाले विषय में

व्यवस्था

• छात्रों के लिए परीक्षा दूसरे अनुमंडल में बनाने का लिया गया है निर्णय

जिला मुख्यालय के अलावा अनुमहलों में भी बनाए जाएग क

 

अब आठ दीर्घ उत्तरीय प्रश्नों में से किसी चार के उत्तर देने होंगे

बिहार बोर्ड ने इंटर और मैट्रिक 2023 की वार्षिक परीक्षा के प्रश्न पत्र में बदलाव किया है। इस बदलाव के तहत दीर्घ उत्तरीय प्रश्नों में आंतरिक विकल्प को समाप्त कर दिया गया है। आंतरिक विकल्प के बदले अब पूर्ण विकल्प का प्रावधान होगा। इसकी जानकारी बिहार बोर्ड अध्यक्ष आनंद किशोर ने दी।

• पहले दीर्घ उत्तरीय के चार प्रश्नों के विकल्प होते थे

लेकिन अब आज प्रश्न होंगे जिसमें से किन्ही 4 प्रश्नों का जवाब देना होग। यह नियम पिछले 2 सालों से ही लागू है और इस बार भी लागू है इसलिए किसी भी प्रकार का विशेष बदलाव नहीं हुआ है जिसे छात्र परेशानी में पड़ सकते हैं। 

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति की ओर से आयोजित होने वाली इंटर और मैट्रिक परीक्षा में शामिल होने वाले छात्रों का परीक्षा केंद्र एक अनुमंडल से दूसरे अनुमंडल में होगा। वहीं छात्राओं का परीक्षा केंद्र उनके गृह अनुमंडल में ही रखे जाने का निर्देश बिहार बोर्ड ने दिया है। परीक्षा केंद्र जिला मुख्यालय के साथ सभी अनुमंडल स्तर पर भी होंगे। वहीं, यदि किसी परीक्षा केंद्र से 10 स्कूलों को संबद्ध किया जाता है तो प्रथम पाली में पांच स्कूलों के तो दूसरी पाली में अन्य पांच स्कूलों के बच्चे परीक्षा देंगे।

उन्होंने बताया कि दीर्घ उत्तरीय प्रश्न में पहले चार प्रश्न होते थे। चारों प्रश्न सात फरवरी में अलग-अलग विकल्प होते थे, लेकिन इस बार आठ दीर्घ उत्तरीय प्रश्न पूछे जाएंगे। इन आठ प्रश्नों में किसी चार का उत्तर छात्र-छात्राओं को देना होगा। पहले हर प्रश्न का विकल्प होने से छात्रों को उत्तर देने में दिक्कत होती थी। नए प्रश्न पत्र पैटर्न में प्रश्नों की कुल संख्या यह जाएगी। लघु उत्तरीय प्रश्नों की संख्या में 75 फीसदी अतिरिक्त प्रश्न होंगे 100 अंक वाले विषयों में लघु उत्तरीय प्रश्नों की संख्या अब 26 होगी। इसमें छात्रों को 15 प्रश्नों के उत्तर देने होंगे। वहीं 70 अंक वाले विषयों में लघु उत्तरीय 22 प्रश्न होंगे। इसमें 10 प्रश्नों का उत्तर देना होगा।।

 बिहार बोर्ड की मानें तो परीक्षा केंद्र चयन समिति जिला स्तर पर रहेगी। इस समिति के माध्यम से ही स्कूल या कॉलेज में परीक्षा केंद्र का चयन किया जाएगा। जिला स्तर पर गठित परीक्षा केंद्र चयन समिति के अध्यक्ष संबंधित जिला के जिलाधिकारी होंगे। इसके अलावा सदस्यों के रूप में पुलिस अधीक्षक, सभी अनुमंडल पदाधिकारी, जिला के माध्यमिक शिक्षक संघ के अध्यक्ष और जिला शिक्षा पदाधिकारी को रखा गया है।

 

मॉडल प्रश्न पत्र में दिए थे सकतः बिहार बोर्ड ने इंटर और मैट्रिक प्रश्न पत्र में बदलाव के संकेत मॉडल प्रश्न पत्र में ही दिए थे। छह नवंबर को बोर्ड की साइट पर जारी इंटर मॉडल प्रश्न गए थे। अब बोर्ड अध्यक्ष की घोषणा के बाद वर्ष 2023 में इंटर और मैट्रिक की परीक्षा देने जा रहे परीक्षार्थियों की इसी पत्र में बदले पैटर्न के अनुसार प्रश्न दिए  जाएंगे।

Bihar Board Exam 2023

Matric model paperClick Here
Inter model paperClick Here
All Model paper solutionsClick Here
Viral questionClick Here
Important Link-Click Here

बिहार बोर्ड ने मैट्रिक का भी मॉडल पेपर जारी कर दिया है। मैट्रिक के 24 विषयों में से 20 के मॉडल । बोर्ड अध्यक्ष ने बताया कि मोडल प्रान नका सेट बोर्ड की वेबसाइट biharboardonline.bihar.gov.in पर अपलोड कर दिया है। पत्र से छात्रों को मदद मिलेगी। इससे पहले इंटर के 48 विषयों का मॉडल प्रश्नपत्र जारी किया गया था।

मॉडल पेपर जारी मैट्रिक का मॉडल पेपर 

के अनुसार तैयारी करनी होगी।

 

केंद्राधीक्षकों की पूरी जानकारी रखेगा बोर्ड

इंटरमीडिएट और मैट्रिक की परीक्षा के लिए जो भी परीक्षा केंद्र बनाए जाएंगे. उसके सभी केंद्राधीक्षकों की पूरी जानकारी बोर्ड अपने पास रखेगा। इसके लिए बिहार विद्यालय परीक्षा समिति सभी केंद्राधीक्षकों के नाम, पते मोबाइल नंबर और मेल आइडी अपने पास रखेगा। बोर्ड ने कहा है कि केंद्र योग्य और स्वच्छ छवि वाले ही बनेंगे। किसी तरह के कदाचार में शामिल होने के आरोपितों को केंद्राधीक्षक नहीं बनाया जाएगा।

 

अभी-अभी एक्टिव हुआ लिंक सबसे पहले डाउनलोड

12th Admit cardLink-1 ||Link- 2
10th Admit cardLink-1 || Link- 2

 

74
Created on By Madhav Ncert Classes

Class 12 Biology Test Or Quiz chapter- वंशागति और विभिनता का सिद्धांत

1 / 30

हँसियाकर रुधिराणु अरक्तता में अमीनो अम्ल संघटक होता है।

 

2 / 30

मेंडल ने प्रस्तावित किया :

 

3 / 30

मेंडल ने चयन किया

 

4 / 30

उत्परिवर्तन प्रेरित किए जा सकते हैं :

 

5 / 30

यदि माता का रक्त समूह ‘O’ तथा शिशु का भी रक्त समूह ‘O’ हो तो पिता का रक्त-समूह क्या होगा ?

 

6 / 30

मशहूर वैज्ञानिक मेंडल मुख्यतः जाने जाते हैं अपने

7 / 30

.एक बिन्दु उत्परिवर्तन है :

 

8 / 30

रक्त समूह की जाँच में प्रयुक्त एन्टीसिरम में पाया जाता है :

 

9 / 30

वर्णांधता में रोगी नहीं पहचान पाता है

10 / 30

डेंगू बुखार किसके कारण होता है ?

11 / 30

क्लाइनफेल्टर्स सिंड्रोम का गुणसूत्र घटक है :

 

12 / 30

रक्त समूह कितने प्रकार के होते हैं-

13 / 30

द्विसंकर क्रॉस में अनुलक्षणी (फीनोटीपिक) अनुपात होता है:

14 / 30

मेंडल के स्वतंत्र अपव्यूहन (law of segregation) महत्त्वपूर्ण है :

 

15 / 30

क्रासिंग ओवर इनमें से किस अवस्था में होता है

 

16 / 30

कैंसर का कारक है:

 

17 / 30

पूर्ण लिंकेज दिखाई पड़ती है

 

18 / 30

हिस्टामिन संबंधित है :

19 / 30

मानव रूधिर वर्ग कौन-कौन से हैं ?

 

20 / 30

इनमें से कौन यौन संबद्ध गुण है

 

21 / 30

युग्मन एवं विकर्षण के सिद्धांत को किसने प्रतिपादित किया ?

 

22 / 30

टीकाकरण एक व्यक्ति को रोग से बचाता है, क्योंकि वह

 

23 / 30

हीमोफीलिया किस तरह की बीमारी है?

 

24 / 30

मानव रुधिर AB वर्ग में

 

25 / 30

गुणसूत्र प्रारूप 2n-1 को कहा जाता है

 

26 / 30

डाउन सिंड्रोम है

 

27 / 30

इनमें से किस रोग हेतु एलिसा (ELISA) जाँच करना चाहिए

28 / 30

इनमें से कौन वैश्विक (सर्वमान्य) रक्तदाता समूह है

 

29 / 30

मनुष्य में सबसे अधिक होने वाला कैंसर है ?

30 / 30

क्रिसमस रोग’ का दूसरा नाम है

 

Madhav ncert classes by- maDHAV sir

Your score is

The average score is 39%

0%

 

 

 

63
Created on By Madhav Ncert Classes

Class -10th Biology Test जैव प्रक्रम और नियंत्रण एवं समन्वय

1 / 22

आणविक ऑक्सीजन के उपलब्ध नहीं होने से पायरूवेट का परिवर्तन जंतुओं में किस यौगिक में होता है?

 

2 / 22

मनुष्यों में साँस लेने और छोड़ने की क्रिया को क्या कहा जाता है?

 

3 / 22

ग्रहणी भाग है

4 / 22

अमीबा में अधिकांश पोषण कैसा होता है?

 

5 / 22

तिलचट्टा में कितने जोड़े श्वास रंघ पाये जाते हैं?

 

6 / 22

किस प्रकार के श्वसन में अधिक ऊर्जा निकलती है?

 

7 / 22

स्वपोषी पोषण के लिए आवश्यक है

8 / 22

रक्त इनमें किसकी उपस्थिति के कारण लाल दिखता है?

 

 

9 / 22

इन्सुलिन की कमी के कारण कौन-सा रोग होता है ?

 

10 / 22

वृक्क किस तंत्र का भाग है ?

 

11 / 22

शरीर की प्रधान नियंत्रक ग्रंथि किसे कहा जाता है?

 

 

12 / 22

तंत्रिका कोशिकाएँ कितने प्रकार की होती हैं ?

 

13 / 22

बहुकोशिकीय जीवों में निम्न में से किस प्रकार का समन्वय पाया जाता है?

 

14 / 22

दो तंत्रिका कोशिका के मध्य खाली स्थान को कहते हैं-

 

15 / 22

निम्नलिखित में से कौन-सा पादप हॉर्मोन है?

 

16 / 22

वृक्क के ऊपर स्थित अंत:स्रावी ग्रंथि है-

 

17 / 22

वह संरचना जो उद्दीपन की पहचान कराती है, कहलाती है-

18 / 22

भोजन का पचना किस प्रकार की अभिक्रिया है ?

 

19 / 22

मानव में डायलिसिस थैली है-

 

20 / 22

ग्वाइटर अथवा घेघा पनपता है-

 

21 / 22

इनमें कौन फल पकाने के लिए प्रयुक्त होते है ?

 

22 / 22

अर्द्धचालक के रूप में उपयोग के लिए जर्मेनियम का शोधन किस विधि द्वारा का किया जाता है ?

 

Your score is

The average score is 53%

0%

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top
The team at WTS provides professional services for the development of websites. We have a dedicated team of experts who are committed to delivering high-quality results for our clients. Our website development services are tailored to meet the specific needs of each project, ensuring that we provide the best possible solutions for our clients. With our extensive experience and expertise in the field, we are confident in our ability to deliver exceptional results for all of our clients.

क्या इंतज़ार कर रहे हो? अभी डेवलपर्स टीम से बात करके 40% तक का डिस्काउंट पाएं! आज ही संपर्क करें!